किसी भी कंपनी का टावर कैसे लगवाये ? jio, vodafone, Airtel ,BSNL

किसी भी कंपनी का टावर कैसे लगवाये ? jio, vodafone, Airtel ,BSNL

दोस्तों अगर आप भी सोच रहे है की apne khet me mobile tower lagwana hai और कैसे लगवाए तो आप बोलकुल सही पोस्ट पर आये है क्योकि आप को इस पोस्ट में अच्छे से मोबाइल टावर लगाने के नियम के बारे में बताया जायेगा।

दोस्तों आज के टाइम हम देख रहे है की mobile का क्रेज़ काफी ज्यादा बढ़ गया है वर्तमान में देखा जाये तो छोटा बच्चा हो या काफी उम्र का बूढ़े हो आपको हर किसी के पास मोबाइल देखने को जरुरु मिलेगा। और मोबाइल हो भी क्यों न आज कल मोबाइल के बिना कुछ काम ही नहीं होते।

परन्तु कई बार होता ऐसा है की हमारे फ़ोन के नेटवर्क नहीं आ रहे होते तो दोस्तों इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए बहुत सी कंपनी अपने नेटवर्क को अच्छा बनाने के लिए अपने कंपनी के टावर लगवाती है।

अगर दोस्तों आपके छेत्र में भी नेटवर्क की समस्या है और आपके पास खली जमीन पड़ी है तो आप भी अपने खेत में टावर लगवा सकते है दोस्तों अगर आपको अपनी जगह में mobile tower lagwana hai तो इस पोस्ट में आपको टावर लगवाने के ऑनलाइन आवेदन करने के बारे में बताऊगा।

और इससे पहले थोड़ा टावर लगवाने के नाम पर हो रही ठग्गी के बारे में बात करंगे दोस्तों अगर आप सोच रहे है अपने खेत में टावर लगवाने के तो आपको यह जानना बहुत ही जरूरी है की आप जिस वेबसाइट ऑनलाइन आवेदन करने जा रहे है वह आपको कही पागल बना कर पैसे तो  नहीं ले रहा क्योकि टावर लगवाने के नाम पर आज कल बहुत ही ज्यादा ठग्गी हो रही और इस टावर लगवाने के नाम पर अभी तक हजारो लोग इस जाल में फस कर अपने पैसे भी गवा बैठे है।

तो इसलिए दोस्तों थोड़ा पहले हम असली और नकली कंपनी के बारे में पता कर ले फिर उसके बाद हम जानगे की tower lagwane ke liye online avedan कैसे किया जाता है

Fraud mobile tower companies  

दोस्तों जब भी हमारे मन कोई सवाल आता है तो हम सीधा google में जाके सर्च करते है तो उसी प्रकार आपका सवाल है मोबाइल टावर कैसे लगवाए ? और आप यह सवाल गूगल में लिखते ही आपके सामने बहुत सारी वेबसाइट ओपन हो कर आ जायगी। जिनमे मोबाइल टावर लगवाने हेतु कुछ जानकरी होती है।

आपको बता दे की इन्ही में वो भी वेबसाइट होती है जो आपसे फ्रॉड करने वाले होती है इसी चीज को आज हम आपको बताने वाले है की हम कैसे पहचान करंगे की कोनसी वेबसाइट फेक है और कोनसी वेबसाइट रियल है इसके लिए नीचे इमेज में देखे

दोस्तों आप उदाहरण के लिए ऊपर आप देख सकते है इमेज में जैसे मेने सर्च किया की Jio tower lagwana hai तो उसके बाद बहुत सी वेबसाइट ओपन होकर आजाती जिसमे केस वेबसाइट के आगे AD लिखा हुआ है (लाल रंग के तीर के आगे ) Ad का मतलब होता है  गूगल एडवर्ड द्वारा चलाई जाने विज्ञापन है।

ऐसी होती है फेक वेबसाइट जो कुछ फेक लोगो द्वारा बनायीं जाती है इस प्रकार की वेबसाइट पर ना तो आपको जाना है और न ही आवदेन करना है अगर आप ऐसा करते है तो आपके पैसे वेस्ट हो सकते है।

क्योकि दोस्तों इनका मकसद लोगो लो बेवकूफ बना कर पैसे लेने का और कुछ काम नहीं इसलिए अगर tower lagwane ke liye online apply करना है तो आप हमारे बताए गए स्टेप फोलोव कीजिये

यह भी पढ़े- पेट्रोल पंप कैसे खोले ? 

Mobile tower kaise lagwaye

तो दोस्तों चलिए अब हम जानते है की mobile टावर लगवाने का प्रोसेस क्या है आपको बता दे की सबसे पहले तो हमें यह समझना होगा tower लगवाने के लिए कोई भी कंपनी आपको कॉल या घर चल कर नहीं आएगी इसके लिए जो भी telicom कम्पनी है जैसे की JIOIDEAVODAFONE, BSNLAIRTEL इनका कॉन्टेक्ट जो कम्पनी टावर लगवाती है उनके साथ होता है।

मतलब की इसके लिए आपको थर्ड पार्टी टावर लगाने वाली कम्पनी से मिलना होगा दोस्तों जब किसी लोकेशन में नेटवर्क की कोई प्रॉब्लम आती है तो कंपनी एक विज्ञापन जारी करती हैं जिसकी मदद से आप अप्लाई कर सकते है दोस्तों क्या आपको पता है किसी भी जगह पर टावर लगाने के कुछ नियम बनाये गए है पहले वो जान लो।

Mobile tower lagwane ke niyam

दोस्तों हम जानते है की हर एक चीज के पहले नियन होते है तो टावर लगवाने के भी कुछ नियम है तो चलिए पहले हम थोड़े नियम जान लेते है। जैसे की –

  • सबसे पहला नियम हॉस्पिटल के 100 मीटर के दायरे में टावर नहीं लग सकता।
  • अगर आपके खेत या खली जगह के आस पास घर या लोग रहते है तो भी टावर नहीं लग सकता।
  • शहर में आपके पास अगर प्लाट है तो वो कम से काम 2000 स्क्वायर फीट का होना चाहिये।
  • और आप गांव में रहते है तो आपके 500 स्क्वायर फीट की जगहा होनी चाहिये।
  • आपको बता दे की टावर लगाने से पहले कोई भी कंपनी पैसा नहीं लेती अपना खर्चा खुद कम्पनी उठाती है।
  • अगर आपके आस पास अड़ोस पड़ोस में कोई ऑब्जेक्शन करता है तो उसकी जिम्मेदारी आपकी खुद की होती है।

Tower lagwane ke liye document

दोस्तों आपको बता दे की जब भी कोई कम्पनी टावर लगाती है तो वो सबसे पहले आपके जमीन के डॉक्यूमेंट देखती है उसके बाद ही वह आगे चलती है इस दौरान आपसे जो भी डॉक्युमेन्ट मांगे जाये आप बिना डरे अपने डॉक्युमेन्ट दिखाए। टावर लगवाने के लिए जरूरी दस्तावेज जो की –

  • टावर लगवाने के लिए सबसे पहले आपके पास स्ट्रक्चरल सेफ्टी सर्टिफिकेट (structural safety certificate) का होना बहुत ही जरुरी है क्योकि यह आपकी बिल्डिंग मज़बूत है या नहीं उसको प्रमाणित करता है।
  • (NOC) दूसरा है NOC (नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट) टावर लगाने के लिए माकन मालिक या लैंड ओवर की जरूरत पड़ती है।
  • और इसके साथ साथ आपको  मुनिस्पालिटी  noc की आवश्यकता पड़ेगी।
  • और बाकी जो भी आपके डॉक्युममेन्ट है जैसे पेन कार्ड,आधार कार्ड,बैंक कॉपी,etc

Mobile tower lagane wali company 

दोस्तों टेलिकॉम कंपनियों के लिए निचे एक छोटी सी कम्पनी है जिससे आप इनकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर कॉन्टैक्ट कर सकते है और आपसे निवेदन है की आप unofficial websites पर ना विजिट करे अगर आप करते है तो आप अपने पैसे गवा सकते है। mobile tower company list –

  • GTL Infrastructure
  • Bharti Infratel
  • ATCtower
  • Indus Towers Ltd
  • Reliance Infratel
  • BSNL Telecom Tower Infrastructure
  • Tower Vision India Pvt. Ltd
  • Ascend Telecom Infrastructure

note- आपको ये बात याद रखनी है की आपको unofficial websites पर नहीं जाना है ध्यान रहे। 

Tower ke liye online apply kaise kare 2021

दोस्तों आपको पहले भी बताया गया है की आप टावर लगाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है जिसके के लिए में कुछ आपको वेबसाइट बता रहा हु जहां पर जाके आपको अपना फॉर्म भर देना है जब भी आपकी लोकशन पर कम्पनी को टावर लगाने के जरूरत होगी कम्पनी आपसे खुद सम्पर्क कर लेगी।

  1. GTL Infrastructure
  2. Indus Towers Ltd
  3. ATCtower
  4. Bharti Infratel

Mobile tower lagane ke fayde

  • अगर आप मोबाइल टावर लगवाते है तो आपकी अच्छी खासी कमाई हो सकती है।
  • मोबाइल टावर लगने से आपकी छत या खाली जमीन काम में आ सकती है।
  • और सबसे खास बात आपको नेटवर्क के लिए परेशान नहीं होने पड़ेगा।

Mobile tower lagwane ke nuksan

  • देखा जाये तो जहां फायदा मिलता है वहां नुक्सान भी झेलना ही पड़ता है
  • मोबाइल टावर से निकलने वाली रेडियशन का खतरा ज्यादा बच्चो को होता है।
  • टावर से निकलने वाली रेडियशन से थकान, अनिद्रा, डिप्रेशन, कैंसर आदि रोग भी हो सकते है।
  • इससे ज्यादा नुकसान आस पास के लोगो को ही होगा।

Mobile tower lagwane ka kiraya milta hai

तो दोस्तों अब बात करे मोबाइल टावर लगवाने से कितनी कमाई होती है आपको बता दे की मोबाइल टावर किसी भी कम्पनी का क्यों न हो इसका किराया काफी अच्छा मिलता है। अगर हम गांव की बात करे तो किराया 6000 रूपये प्रतिमाह से लेकर 2000 प्रतिमाह तक हो सकता है। और बात की जाये शहरी क्षेत्र की तो 12000 रूपये से लेकर 35000 प्रतिमाह तक हो सकता है।

आखिर में,

दोस्तों उम्मीद करता हु mobile tower kaise lagwaye in hindi यह पोस्ट आपके काफी ज्यादा काम की रही होगी अगर इसके रीलेटेड कोई भी सवाल पूछना है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है।

और दोस्तों अगर आपको इसमें कुछ भी douts लगता है या कुछ समझ नहीं आया हॉ तो भी आप कमेंट में पूछे आपके सवाल का जवाब हम जरुरु देंगे धन्येवाद।

दोस्तों आपसे निवेदन है इस लेख को अपने दोस्तों के साथ Social media जैसे :-Facebook,Twitter और दुसरे Social media sites पर जरूर share कीजिये। ताकि आपके दोस्त भी इस अप्प का फायदा उठा सके।